रोचक तथ्य,

रोचक तथ्य, Computer – Helps In की जानकारी

About Mangal Gupta 12-15 minutes


Amazing Facts about Computer in hindi : आज के डेट में एक से बढ़कर एक हाईटेक कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाने लगा हैं। आप कह सकते है की, Computer Technology ने हमारी दुनिया ही बदल कर रख दी है। मानो ऐसा लगता है की, कंप्यूटर के बिना हमारी जिन्दगी ही अधूरी हैं। लेकिन आपको बता दे की, यहां तक पहुंचने में हमें कई दशक लग गए। वैसे क्याह आप जानते हैं, पहला Personal Computer 12 अगस्त 1981 को लॉन्च किया गया था। जिसे IBM ने बनाया था। इसका वजन 9.5 किग्रा था और कीमत तकरीबन 1500 डॉलर थी। अगर नहीं तो आइए जानते हैं, कंप्यूटर से जुड़े ऐसे ही कुछ 50 रोचक तथ्य (computer ki rochak jankari) के बारे में।

बहुत सारा मेहनत और experiments के बाद, आज Computer को यह स्वरूप और कार्य क्षमता मिली है। इसने ह्यूमन लाइफ के रोजमर्रा कामों को काफी आसान और तेज बनाया दिया है।

वैसे कंप्यूटर शब्द अंग्रेजी के “Compute” शब्द से बना है। जिसका अर्थ “गणना” करना होता है। इसीलिए इसे गणक या संगणक भी कहा जाता है। कंप्यूटर को हम अपनी भाषा में, एक व्यापार मशीन भी कह सकते है।

आपको बता दे की, कंप्यूटर का अविष्का्र Calculation करने के लिये हुआ था। लेकिन आज के डेट में इसका इस्तमाल Calculation करने से लेकर, डाक्यूमेन्ट बनाने, E-mail, audio, video, playing games, database preparation के साथ साथ और भी बहुत सारे कामो में किया जाने लगा है।

  • जानिए इंटरनेट से जुड़े 41 रोचक तथ्य, Amazing Facts about Internet

आज कंप्यूटर का उपयोग लगभग हर एक जगह होने लगा है। पूरी दुनिया में आज करीब 3 अरब के आसपास कंप्यूटर है। चलिए हम आपको computer के बारे में कुछ रोचक और चौंकाने वाली (Amazing Facts about Computer in hindi) जानकारी देते है।

Contents [hide]

  • कंप्यूटर का इतिहास – History of Computer in Hindi
  • Amazing Facts about Computer, कंप्यूटर के बारे में 50 रोचक तथ्य
    • Computer Full Form in Hindi – कंप्यूटर की फुल फॉर्म
    • History of Computer Generation, कंप्यूटर जेनरेशन का इतिहास
      • The First Generation :
      • The Second Generation :
      • The Third Generation :
      • The Fourth Generation :

कंप्यूटर का इतिहास – History of Computer in Hindi

Computer का इतिहास करीब 2 हज़ार साल पुराना है। इसे बनाने का श्रेय आप किसी एक शख्स को नही दे सकते है। पहली बार ‘Computer’ शब्द 1613 में एक इंसान के लिए प्रयोग किया गया था। जो गणित की गणना करने में सक्षम था। शुरुआती दौर में कंप्यूटर एक लकड़ी के रैक के रूप में होता था। जिसे अबेकस कहा जाता था।

वही अगर बात करे पहले Mechanical Computer (यांत्रिक कंप्यूटर) की, तो इसे चार्ल्स बैबेज ने सन् 1822 में बनाया था। इसी वजह से चार्ल्स बैबेज को “फादर ऑफ कंप्यूटर” कहा जाता है।

तो वही अगर बात आती है पहले Programmable Computer की, तो इसे जर्मनी के कोनराड झूस ने सन् 1936 से 1938 के बीच बनाया, जिसका नाम ‘Z1‘ था।

अब अगर बात करे पहले Electronic Digital Computer की, तो इसे जॉन मौच्ली और जे प्रेस्पर एकर्ट ने सन् 1943 से 1946 के बीच बनाया, जिसका नाम ‘ENIAC’ था। यह इतना बड़ा था की, इसे रखने के लिए करीब 200 गज जगह की जरूरत पड़ती थी।

लोगो ने कंप्यूटर को शुरू से ही काफी पसंद किया और आज भी लोग कंप्यूटर के दीवाने है। आज पूरी दुनिया में ज्यादातर काम कंप्यूटर से ही ऑनलाइन होने लगे है। ऐसे में आपको कंप्यूटर से जुड़े रोचक और दिलचस्प बातें (Amazing Facts about Computer in hindi) जरुर जानना चाहिए।

1. वर्ष 1832 से लेकर बर्ष 1964 तक के बने कंप्यूटर में, ना तो keyboard (कीबोर्ड) था और ना ही माउस (Mouse) होता था।

2. पहला कंप्यूटर माऊस लकड़ी का बना था। जिसे सन् 1964 में ‘Doug Engelbart’ द्वारा बनाया गया था।

3. Computer का पितामह चार्ल्स बेबेज को कहा जाता है। इन्होने एक यांत्रिक कंप्यूटर का अविष्कार किया था।

4. आमतौर पर एक इंसान 1 मिनट में 20 बार पलकें झपकाता है। लेकिन कंप्यूटर के सामने बैठने पर वह इंसान केवल 7 बार ही अपने पलकें झपकाता हैं।

5. किसी टाइपिंग करने वाले इंसान की उंगलियाँ, हर रोज लगभग 20 किलोमीटर चलती हैं।

6. अगर इन्सान का दिमाग कंप्यूटर के जितना शक्तिशाली होता। तो वह प्रति सेकंड में लगभग 4 करोड़ ऑपरेशन करने में सक्षम होता और 35 लाख जीबी (GB) से ज्यादा मेमोरी सेव कर सकता।

7. दुनिया की पहली Hard Disk, जिसे 1979 में बनाया गया था। उसमें केवल 5 MB डाटा स्टोर हो सकता था। जबकि आजकल तो इससे ज्यादा एमबी डाटा, एक फोटो खींचने में चला जाता हैं।

8. आपको यह भी जानकार हैरानी होगी की, 1 GB की पहली Hard Disk का वजन, एक मगरमच्छ के बराबर था। जिसे 1980 में बनाया गया था और इसकी कीमत $40000 था।

9. 1 TB यानि 1000 GB की पहली Hard Disk बनाने वाली कंपनी का नाम ‘Hitachi’ था। इस कंपनी ने इसे सन् 2007 में बनाया था।

10. पहला माइक्रोप्रोसेसर (Microprocessor) Intel कंपनी ने 1971 में बनाया था। Intel 4004 नाम के इस processor को एक calculator के लिए, डिजाइन किया गया था। जिसकी Maximum Clock Rate मात्र 740KHz थी। जबकि आज के मार्किट में 8.805 GHz clock rate तक के प्रोसेसर आ चुके है।

11. आज के कंप्यूटर का आकार पहले के कंप्यूटर आकार से काफी बड़ा होता था। पहले के कंप्यूटर लगभग एक कमरे जितने बड़े होते थे।

12. प्रथम फ़्लॉपी डिस्क (floppy disk) का अविष्काकर 1970 में हुआ था। जिसकी स्टोiरज क्षमता (Store Capacity) मात्र 7579 KB थी।

13. आपको यह जानकार हैरानी होगी की, विश्व की पहली हार्डडिस्क (Hard Disk) में केवल 5 MB डाटा ही स्टोैर किया जा सकता था।

14. क्या आप जानते है, सबसे पहले कंप्यूटर में 45KB की रैम चिप लगी होती थी।

15. CD, DVD और Pen Drive से पहले, बाहरी डाटा को आदान प्रदान करने के लिए, फ़्लॉपी डिस्क (floppy disk) का प्रयोग किया जाता था।

floppy-disk-amazing-Facts

16. दुनिया का पहला Computer Keyboard का अविष्काडर 1968 में किया गया था।

17. तो वही दुनिया का पहला कंप्यूटर मॉनिटर (Computer Monitor) का प्रयोग सर्वप्रथम 1980 में किया गया था।

18. कंप्यूटर स्क्री न पर दिखने वाले सभी द्रश्य (Visual), केवल तीन रंगों (लाल, हरा, नीला) से मिलकर बने होते हैं।

19. दुनिया में ज्यादा उपयोग किया जाना वाला USB हार्डवेयर पेन ड्राइव, वर्ष 1999 में अस्तित्व. में आया था। लेकिन इसे बाजार में वर्ष 2000 में उतारा गया था। उस समय इसकी स्टो रेज क्षमता (Store Capacity) मात्र 8 MB थी।

20. दुनिया का पहला कंप्यूटर प्रोग्राम ‘Ads Lovelace’ नामक एक महिला द्वारा लिखा गया था।

ada-lovelace-first-computer-programmer

21. पहली बार किसी कंप्यूटर में ताश के पत्तों का गेम (Solitaire), सन् 1990 में डाला गया था। जिसे 1989 में intern Wes Cherry द्वारा develop किया गया था।

solitaire game develop by intern Wes Cherry

22. आपको यह जानकर हैरानी होगी की, पहला कंप्यूटर बग एक मृत कीट था।

23. आपको बता दे की, 1950 के आसपास Computers को “Electronic Brains” कहा जाता था।

24. क्या आप जानते है, कीबोर्ड की किसी एक लाइन से लिखा जाने वाला सबसे लंबा शब्द ‘Typewriter’ हैं।

25. आपको जानकर हैरानी होगी की, आज भी 86 प्रतिशत लोग USB को उल्टा लगाने की कोशिश करते है।

26. Windows start (स्टार्ट) होते समय जो आवाज आती है। उसे Apple Mac ने प्रयोग करके बनाई गई थी।

27. बिल गेट्स के घर का नक्शा एप्पल के ‘Macintosh’ कंप्यूटर से डिजाइन किया गया था।

28. क्या आप जानते है, संस्कृत को Computer Software के लिए, सबसे बेहतर भाषा माना गया है।

29. Computer में प्रयुक्त होने वाला “IC Chips” सिलिकॉन का बना होता है।

30. आपको यह जानकर बहुत ज्यादा हैरानी होगी की, 2034 तक दुनिया की 47% नौकरीयाँ Computer खुद ही करने लगेगे।

31. आज के डेट में कोई भी ऐसा कंप्यूटर नही बना है। जो Captcha को अपने आप ही हल कर सकें।

32. हर साल 30 December को ‘Computers Security Day’ के रूप में मनाया जाता है। तो वही 2 December का दिन कंप्यूटर साक्षरता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

33. Computer के विकास में सर्वाधिक योगदान ‘वॉन न्यूमान’ का रहा है।

34. विश्व के प्रथम Electronic Digital Computer का नाम एनीयक (ENIAC) है।

35. तो वही भारत में निर्मित प्रथम कंप्यूटर का नाम “सिद्धार्थ” है।

36. भारत में पहला Computer 16 अगस्त, 1986 को बंगलौर के प्रधान डाकघर में लगाया गया था।

37. भारत में 1970 में 100 कंप्यूटर थे। लेकिन आज वर्तमान समय में हर दो मिनट में एक नए Computer की स्थापना हो जाती है।

38. कंप्यूटर विज्ञान में पी.च.डी (P.H.D) करने वाले प्रथम भारतीय डॉ राजरेड्डी हैं।

39. Computer में प्रोग्राम (Program) की सूची को MENU कहा जाता है।

40. भारत में कंप्यूटर के सहयोग से संगीतबद्ध किया गया प्रथम एलबम का नाम “बेबी डौल” है।

41. कंप्यूटर के RAM और ROM दोनों ही स्टोरेज डिवाइस हैं।

42. हार्ड डिस्क की स्पीड (Hard Disk Speed) 3600 चक्र प्रति मिनट है।

43. कंप्यूटर में Forton भाषा का प्रयोग विज्ञानं क्षेत्र में किया जाता है।

44. हर महीने करीब 6,000 कंप्यूटर वायरस (Virus) बनाये जाते हैं।

45. अब तक लगभग 17 अरब डिवाइस में Internet का इस्तमाल किया जा चुका है।

46. 1964 से कंप्यूटर में कीबोर्ड और स्क्रीन को लगाना सुरु किया गया।

47. 1964 में ही सबसे पहले ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग किया गया।

48. यूट्यूब (Youtube) पर हर मिनट में करीब 10 घंटे की विडियो डाली जाती है।

49. आपको यह जानकर हैरानी होगी की, 1968 से लेकर 1976 तक यानि 8 सालों तक अमेरिका की न्यूक्लियर मिसाइल लॉन्च करने वाले कंप्यूटर कंट्रोल का पासवर्ड 00000000 था।

50. 1990 के बाद इंटरनेट ने Computer को एक नई पहचान दी। यह वह दौर था जब हर घर में कंप्यूटर की जरूरत महसूस होने लगी।

Computer Full Form in Hindi – कंप्यूटर की फुल फॉर्म

C – Common

O – Oriented

M – Machine

P – Particularly

U – United and used under

T – Technical and

E – Educational

R – Research

तो ये थे Amazing Facts about Computer in hindi , कंप्यूटर के बारे में 50 रोचक तथ्य। उम्मीद करते है, computer से जुड़े ये रोचक और चौंकाने वाले तथ्य आपको जरुर पसंद आये होगे।

वैसे आपको बता दू की, Computer केवल वही काम करता है। जो हम उसे करने के लिए कहते हैं। यानी कंप्यूटर केवल उन्ही Commands को फॉलो करते है। जो पहले से computer के अन्दंर डाले गये होते हैं।

क्यों की कंप्यूटर के अन्देर सोचने समझने की क्षमता नहीं होती है। वैसे Computer को जो इन्सान चलाता है, उसे यूजर कहते हैं। आईए अब हमलोग कंप्यूटर जेनरेशन का क्या इतिहास रहा है? इसके बारे में भी कुछ जान लेते है।

  • IP Address क्या है और अपना IP Address कैसे पता करे?

History of Computer Generation, कंप्यूटर जेनरेशन का इतिहास

गिनती करने के लिए बना था कंप्यूटर – 30,000 साल पहले यानी आदिकाल में जब कोई सुविधांए नहीं थी। तो उस समय के मानव ने गणना करने के लिए, पत्थरों और हड्डियों का सहारा लिया। आदिमानव इनके उपर कुरेदकर लकीरें खींच देते थे, जो गिनती के काम आती थी।

लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया वैसे-वैसे विकास भी होता चला गया। अब मानव ने गणना करने के मशीन बना डाली। जिसे आज हमलोग Computer (कंप्यूटर) के रूप में जानते है।

अगर साक्ष्यों के आधार पर मानें, तो पहला Computer अबेकस कहलाता है। जो गणना के काम आता था। इसका आविष्कार करीब 4,000 साल पहले हुआ था। लकिन समय के साथ साथ कंप्यूटर का जेनरेशन भी बदलता चला गया। चलिए जानते है, कंप्यूटर का अब तक का सफ़र कैसा रहा है।

The First Generation :

1945 से लेकर 1956 तक का समय फर्स्ट जेनरेशन (First Generation) कंप्यूटर के लिए जाना जाता है। इस समय में वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tubes) को प्रोसेसर की तरह यूज किया जाता था। हालांकि यह काफी बड़ा और मंहगा होता है।

वहीं अगर इसके परफॉर्मेंस की बात करे। तो यह काफी स्लो हुआ करता था। इस दौरान ENIAC और UNIVAC जैसे कंप्यूटर्स का आविष्कार किया गया था। UNIVAC में 5400 वैक्यूम ट्यूब का इस्तेमाल होता था। उस समय के ये Computer बड़े-बड़े हॉल के बराबर हुआ करते थे।

The Second Generation :

कहते है न की, आवश्कता ही आविष्कार की जननी है। ठीक उसी तरह जब First Generation वाले Computers काफी बड़े और मंहगे साबित होने लगे। तो सेकेंड जेनरेशन (Second Generation) के Computers की उत्पत्ति हुई।

1956 से लेकर 1963 तक का समय Computer के बदलाव का दौर था। इन 7 सालों में Computer काफी बदल चुका था। वैक्यूम ट्यूब की जगह अब ट्रांजिस्टर का यूज होने लगा था। 1 ट्रांजिस्टर करीब 40 वैक्यूम ट्यूब के बराबर काम करने लगा। साथ ही इसे बनाने में कोई ज्यादा खर्चा भी नहीं आता था।

The Third Generation :

1965 से लेकर 1970 के बीच Computer Technology में काफी बदलाव हुए। इस दौरान इंटीग्रेटेड सर्किट का आविष्कार हुआ। साथ ही अब ट्रांजिस्टर की जगह IC (इंटीग्रेटेड सर्किट) का इस्तेमाल किया जाने लगा।

उस समय किसी ने भी यह नहीं सोचा था की, करोड़ो ट्रांजिस्टरों को एक छोटी सी IC में बदल दिया जाएगा। यह एक सेमीकंडक्टर चिप की तरह वर्क करती थी। इसके कारण Computer का साइज तो बदला ही साथ ही। साथ ही परफार्मेंस के मामले में यह काफी आगे निकल आया।

The Fourth Generation :

1971 से लेकर अभी तक Fourth Generation का दौर चल रहा है। इसमें IC (इंटीग्रेटेड सर्किट) को माइक्रोप्रोसेसर में तब्दील कर दिया गया है। इस काम में Apple से लेकर Microsoft जैसी दिग्ग्ज कंपनियां उभर कर सामने आईं। जिसके वजह से लोगों को एक स्मार्ट कंप्यूटर (Smart Computer) देखने को मिला।

आज हम घरों और ऑफिसों में नोटपैड का इस्तेमाल कर रहे हैं। ये सभी माइक्रोप्रोसेसर पर वर्क करती हैं। ये कंप्यूटर काफी स्मार्ट और हाईटेक हैं। हालांकि अब इसके आगे की भी तैयारीयाँ शुरु हो गई है। जो कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को ध्यान में रखकर बनाए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.