BUSINESS QUESTION ANSWER

क्या ये काम कानूनी है? कानून के अनुसार उत्पाद बेचना और सेल पर कमीशन लेना और देना पूर्णतः कानूनी है। यह एक पूर्णतः व्यावसासिक प्रक्रिया है जिसके लिए विभिन्न प्रकार के नियम और कानून भी इसके संचालन के लिए बने हैं, इस सभी कानूनी प्रक्रिया का कंपनी द्वारा पूर्णतः पालन किया जाता है।


आपकी कंपनी में क्या पोजिशन है, क्या आप कंपनी में मेम्बर/सदस्य हो? कंपनी में हमें एडवाईजर कहा जाता है, जो कंपनी में ऑनलाईन ऑर्डर करते समय कंपनी के एडवाईजर की टर्म कंडीशन की स्वीकृति के बाद हमें एडवाईजर के रुप में पहचान मिलती है। एडवाईजर के अतिरिक्त कंपनी में किसी की कोई पोजीशन नहीं होती है, कंपनी द्वारा ना तो कोई मेम्बर/सदस्य बनाया जाता है और ना किसी प्रकार की मेम्बरशिप/सदस्यता फीस ली जाती है

कंपनी द्वारा जो कमीशन इनकम दी जाती है उसमें क्या-क्या कटौती होती है? Ans कंपनी द्वारा कमीशन पर TDS काटने से सम्बन्धित नियमः
Income Tax Act 1961 Section 194H केस1:
जब आपने PAN नंबर अपटेड किया हुआ है15000 तक कमीशन पर TDS नहीं कटेगा। 15000 के बाद सबसे पहले पूरे कमीशन जिसमे 15000 भी शामील होगा पराDS कटेगा। उसके बाद प्रत्येक कमीशन में से 65 रुपये घटा कर बचे कमीशन पर 5% TDS घटा कर आपको मिलेगा।
TDS सीधे आपके नाम पर तिमाही सरकार के पास जमा होता रहेगा जिसे आप ऑनलाईन फॉर्म 26AS में देख सकते है। केस2 :
जब आपने PAN नंबर अपटेड नहीं किया हुआ हैप्रत्येक कमीशन पर शुरु से ही पहले 65 रुपये फिर 20% TDS कटेगा उसके बाद कमीशन आपको मिलेगा। 20% TDS का सर्टिफिकेट फॉर्म 16A आपको साल खत्म होने के बाद कंपनी से मिल जायेगा जिसे आप क्लेम कर सकते
अगर सर्टिफिकेट स्वतः ना आये तो कंपनी से संपर्क कर प्राप्त कर सकते है। केस:
पहले PAN नहीं होना और बाद में अपडेट करने पर जब तक PAN नंबर अपडेट नहीं है तब तक केस 2 के नियम लागू होंगे। जब आप PAN नंबर अपडेट करेगें उसके बाद केस नंबर 1 के नियम लागू होंगे।


क्या कंपनी कोई या किसी तरह की निवेश स्कीम चलाती है, जो PCMC (Price Chit Fund and Money Circulation Banning Act) के तहत गैरकाननी है? जिस कंपनी का हम काम करते है वो पूर्णतः प्रोडक्ट सेलिंग का काम करती है और सेल आधारित कमीशन देती है. इसलिए जिस कंपनी का हम काम करते हैं उस पर PCMCAct लागू नहीं होता और इस सन्दर्भ में कंपनी द्वारा सप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के मजिस्ट्रेट से लीगल ओपिनियन भी लिया गया है जिसकी कॉपी आप एडवाईजर से प्राप्त कर देख सकते है

आपकी कंपनी क्या करती है? Ans जिस कंपनी का हम काम कर रहे है वो कंपनी पहले से स्थापित कंपनियों के प्रोडक्ट को ऑनलाईन सेल करती है
जिसमें हमारे माध्यम से होने वाली सेल पर हमें सेल आधारित कमीशन देती है।


आपकी कंपनी का पूरा नाम और पता क्या है? हम जिस कंपनी का काम करते है उसका पूरा नाम Safe and Secure Online Marketing Pvt. Ltd. जिसका वेबसाइट एड्रेस http://www.safeshopindia.com है और कंपनी का एकमात्र रजिस्टर्ड कार्यालय A3/24
Janakpuri,NewDelhi-110058 में स्थित है।

कंपनी पैसे क्यों दे रही है। कंपनी पैसे कैसे बांटती है? Ans आपको यह ज्ञात होगा कि बाजार से हम जो सामान खरीदते हैं उसकी मूल कीमत जिसे फैक्ट्री लागत कहा जाता है वो
केवल 30% होती है। मतलब अगर किसी सामान का बाजार मूल्य 100 है उसमें से फैक्ट्री लागत 30 होगी और बचा 70 उस उत्पाद के मार्केटिंग डिस्ट्रीब्यूशन और रिटेलर में खर्च होता है। हमारी कंपनी जिन उत्पादों को प्रमोट करती है उन उत्पादों को सीधे निर्माता कंपनी से फैक्ट्री लागत (मतलब 30) में खरीदती है और ग्राहक को बाजार मूल्य 100 में देती है और 70 जो पहले मार्केटिंग डिस्ट्रीब्यूशन रिटेलर मे बंटता था उसमें से 10 खुद रखती है और 60 नेटवर्क में यांटती है। निर्माता कंपनी से इस प्रकार के लेनदेन का प्रमाण पत्र भी कंपनी के पास है जिसे आप देख सकते है।

क्या कंपनी मेम्बर/सदस्य बनाती है, क्या कंपनी रजिस्ट्रेशन फीस लेती है?

हम जिस कंपनी का काम करते हैं उसमें किसी प्रकार का कोई सदस्य या मेम्बर नहीं बनाया जाता और ना ही किसी
प्रकार का कोई सदस्यता या मेम्बरशिप शुल्क किया जाता है । इस कंपनी में ग्राहक केवल उत्पाद की MRP या उससे कम जो कीमत कंपनी द्वारा निर्धारित उसका भुगतान करता है और उसे कंपनी के साथ काम कर कमीशन पाने का वैकल्पिक अवसर प्राप्त है जिसका वह चाहे तो प्रयोग करे या ना करे।

इसकी एक साधारण वजह तो हमारे आय कमाने का समीकरण भी है। दमन का अर्थशास्त्र में पैसे कमाने के केवल दो ही समीकरण होते हैं। तीसरा कोई नहीं।
मानका समीकरण भी है। हमने कभी इस बात को नहीं सीखा कि
1.लिनीधर समीकरण :आय आपके मारा दिया गया समयमा कार्य ही मामला
क्षमता/प्रकार (उदाहरण) 10×1-10 लीनियर समीकरण कहते हैं।
2.एक्सपोनेन्सियल समीकरण :आय: आपके द्वारा दिया गया समय x आपके कार्य की क्षमता /प्रकार x आपके संगठन का आकार (उदाहरण 10x1x10%D100) एक्सपोनेन्सियल समीकरण कहते है।
आपके संगठन का आकार जैसे-जैसे बढ़ता जायेगा आपकी आय गुणा के माध्यम से भी समझ सकते हैं।
का आकार जस-जसे बढ़ता जायेगा आपकी आय गणात्मक रूप से वैसे ही बढती जायेगी। इस हमचाट
नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय
नौकरी वाला व्यक्ति सुखी
प्रतिदिन कार्य समय
अनुमानित
नौकरी/व्यवसाय प्रतिदिन कार्य समय
8 घण्टे 10,000/- प्रति माह
घण्टे 10,000/- प्रति माह 8 घण्टे
10,000/- प्रति माह 8 घण्टे 10,000/-प्रति माह 8 घण्टे 10,000/- प्रति माह 8 घण्टे 10,000/- प्रति माह घण्टे
10,000/-प्रति माह 8 घण्टे 10,000/- प्रति माह 8 घण्टे
10,000/- प्रति माह 8 घण्टे 10,000/- प्रति माह घण्टे 10,000/-प्रति माह
10,000/-प्रति माह
प्रतिदिन
नेटवर्क मार्केटिंग
10000
समय
अनुमानित
करने वाला
व्यक्ति सदा के लिए सुखी
आय
8 घण्टे
आप यहां देख सकते हैं कि नेटवर्क मार्केटिंग के व्यवसाय में समय बढ़ने के सार-साथ आपका काम कम होता चला जाता है। जबकि आपकी आय निरंतर बढ़ती चली जाती है। जबकि व्यवसाय/नौकरी में आय समय आधारित है। अतः समान दर से प्राप्त होती रहती है। लगभग 3 वर्ष पश्चात् नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में यदि आप कार्य करना छोड़ भी देते हैं तब भी
पर कोई असर नहीं होता है बल्कि यह एक्सपोनेशियल समीकरण के अनुसार लगातार बढ़ती ही जाती है।
सरा कारण महगाई। हम जानते है कि हम दर्तमान काम से कभी भी महंगाई दर का लगातार मुकाबला नहीं कर सकते शाई सदैव हमारी आय के साथ-साथ समान आकार में बढ़ती जाती है और अतः हम अधिक आय के बाद भी वैसी ही
में होते हैं जैसे पहले थे। जब तक हम अपनी आय महंगाई की दर से ज्यादा दर से नहीं बढ़ायेंगे यह स्थिति नहीं सघर पायेगी।
मारण यह है कि यह एक एसा अवसर हाजरा हम शून्य लागत पर हासिल कर रहे हैं। यही एक अवसर है जब
हम अपनी रमता का प्रयोग कर अपने सपने पूरे कर सकते हैं।

(4) प्लान दिखाना आप वेन्यू (सभा स्थल) के दरवाजे पर खड़े होकर अपने मेहमान का इंतजार न करें। यह प्रोफेशनल तरीका नहीं होता।
इससे लगता है कि आपको उनकी बहुत जरूरत है।
आप भरसक कोशिश करें आप भीटिंग की आगे वाली कतार में अपने मेहमान के साथ बैठे।
प्रस्तुति (प्रेजेंटेशन) के अंत में आप भी उनसे कुछ कहें, जैसे आपको नई जानकारियां मिली होगी, है न? इसके बाद
आप अपने प्रॉस्पेक्ट को स्पीकर तथा अपलाइन से मिलवायें।
आप अपने साथ अपाइंटमेंट डायरी हमेशा रखें ओर ओपन मीटिंग के साथ प्रॉस्पेक्ट से 48 घंटे के भीतर ही एक
5
फालोअप अपाइंटमेंट बुक कर लें। जाते समय प्रॉस्पेक्ट को Literature व Educational CD जरुर दें। मीटिंग के बाद खड़े होकर बहुत ज्यादा बातें करने की जरुरत नहीं है। उन पर अभी बिजिनेस शुरू करने का दबाव नहीं
डालिये। उन्हें समय पर घर भेज दीजिए। क्योंकि सारी बातें एक बार में नहीं की जा सकती।
प्रॉस्पेक्ट से मुलाकात करवाते समय अपनी अपलाईन तथा साथियों को एडीफाई करें, अर्थात उनकी तारीफ करेंन कि
प्रॉस्पेक्ट की तारीफ करें।
oD
स्वयं अपना तथा अपने प्रॉस्पेक्ट का मोबाइल बंद करवा दें। वाइब्रेटर मोड में भी न रखें | यदि प्रॉस्पेक्ट आते ही जाने की इच्चों करने लगे किसी जरूरी काम हेतु, तो उसे आदर सहित प्लान शुरु होने से पूर्व जाने को कह दें। तथा उससे कहें फिर कभी मौका मिला तो आप उसे आमंत्रित करेंगे। उसे यह भी कभी न बतायें कि यह सेमिनार प्रत्येक सप्ताह होता है। डिसीप्लीन बनाये रखें, व्यवसायिक ड्रेस पहनकर ही आयें तथा समय की पाबंदी पर ध्यान दें।
10
प्लान प्रारंभ होने से पूर्व प्रॉस्पेक्ट को अकेला या अपरिचित के साथ न छोड़े न ही प्लान के विषय में चर्चा करें। सामान्य
विषय पर हल्की गपशप करें।
12
प्रॉस्पेक्ट को आने के बाद अपनी अपलाईन तथा साथियों से मिलवाये जिससे वह सहज महसस करे।
13
प्रॉस्पेक्ट से सकारात्क बाते करें। नकारात्मक विषयों पर चर्चा न करें।

(4) प्लान दिखाना
पल कदरवाजे पर खड़े होकर अपने मेहमान का इंतजार न करें। यह प्रोफेशनल तरीका नहीं होता।
इससे लगता है कि आपको उनकी बहुत जरूरत है।
आप भरसक कोशिश करें आप मीटिंग की आगे वाली कतार में अपने मेहमान के साथ बैठे।
प्रस्तुति (प्रजटेशन) के अंत में आप भी उनसे कछ कहें. जैसे आपको नई जानकारियां मिली होगी, हैन? इसके बाद
आप अपने प्रॉस्पेक्ट को स्पीकर तथा अपलाइन से मिलवायें।
आप अपने साथ अपाइंटमेंट डायरी हमेशा रखें ओर ओपन मीटिंग के साथ प्रॉस्पेक्ट से 48 घंटे के भीतर ही एक
फालोअप अपाइंटमेंट बुक कर लें।
जाते समय प्रॉस्पेक्ट को Literature EducationalCD जरुरदा
नाटा क बाद खड़े होकर बहुत ज्यादा बातें करने की जरूरत नहीं है। उन पर अभी बिजिनेस शुरु करने का दबाव नहीं
डालिये। उन्हें समय पर घर भेज दीजिए। क्योंकि सारी बातें एक बार में नहीं की जा सकती। प्रॉस्पेक्ट से मुलाकात करवाते समय अपनी अपलाईन तथा साथियों को एडीफाई करें, अर्थात उनकी तारीफ करें न कि प्रॉस्पेक्ट की तारीफ करें।
स्वयं अपना तथा अपने प्रॉस्पेक्ट का मोबाइल बंद करवा दें। वाइब्रेटर मोड में भी न रखें। यदि प्रॉस्पेक्ट आते ही जाने की चर्चा करने लगे किसी जरूरी काम हेतु, तो उसे आदर सहित प्लान शुरु होने से पूर्व जाने को कह दें। तथा उससे कहें फिर कभी मौका मिला तो आप उसे आमंत्रित करेंगे। उसे यह भी कभी न बतायें कि यह सेमिनार प्रत्येक सप्ताह होता है। डिसीप्लीन बनाये रखें, व्यवसायिक ड्रेस पहनकर ही आयें तथा समय की पाबंदी पर ध्यान दें।
10
11
प्लान प्रारंभ होने से पूर्व प्रॉस्पेक्ट को अकेला या अपरिचित के साथ न छोड़े न ही प्लान के विषय में चर्चा करें। सामान्य
विषय पर हल्की गपशप करें।
12
प्रॉस्पेक्ट को आने के बाद अपनी अपलाईन तथा साथियों से मिलवायें जिससे वह सहज महसस करे।
13
प्रॉस्पेक्ट से सकारात्क बाते करें। नकारात्मक विषयों पर चर्चा न करें।

तीन प्रकार की सूचियां तैयार करें (क) करीबी सूची (HOT LIST)आपकी इनिशियल सूची में आपके रिश्तेदार, पुराने तथा अभी के पड़ोसी, अपने बिजनेस से जुड़े दोस्त, स्कूल/ कॉलेज के दोस्त, जान पहचान के लोग, परिवार व करीबी दोस्तों आदि को शामिल करें। आपको बिजनेस शुरु करने के लिए सबसे पहले इसी सूची से मदद मिलेगी।
(ख) परिचितों के परिचित की सूची (WARM LIST) – इस सूची में आपके मित्र का मित्र, भाई बहन के मित्र, पुराने तथा अभी के पड़ोसी के परिचित, बिजनेस से जुड़े दोस्तों के दोस्त या परिचित, स्कूल/कॉलेज के दोस्तों के दोस्त, परिवार के सदस्यों के मित्र एवं उनके परिचित लोगों के नामों की सूची तैयार करे। आप देखेंगे कि जब आपको लोकल लेवल पर अपने बिजनेस में सफलता मिली है तो उससे आपको और अधिक दूरी तक जाकर बिजनेस करने का प्रोत्साहन मिलेगा।
(ग) अपरिचितों की सूची (COLDIST) – नये दोस्त बनाइये तथा उनके नाम अपनी सूची में शामिल कीजिए। सबसे बड़ी श्रेणी उन लोगों की है जो अभी आपके दोस्त नहीं बने हैं। अनजान व्यक्ति जिससे आप अचानक या घटनावश मिलते हैं तथा जिनसे हमारी बातचीत या चर्चा प्रारंभ हो जाती है या इसमें आप स्वयं अपने प्रयासों से भी बात आगे बढ़ा कर कार्य जारी रख सकते हैं।
अपनी सूची को बढ़ाना निरंतर अपनी सूची में नए लोगों को शामिल करते रहिए, ताकि यह सूची कभी खत्म न हो, जो एसोसिएट अपनी सूची में जितने नए नाम शामिल करते जाते हैं वे निरंतर आगे बढ़ते चले जाते हैं, और दिन ब दिन उनका जीवन बेहतर होता चला जाता है। शुरु-शुरु में जिन लोगों को नेटवर्किंग में अथवा संभावनाएं तलाशने में काफी परेशानी होती है, वे भी देखते हैं कि जैसे-जैसे लोगों से संपर्क करते जाते हैं, नए-नए दोस्त बनाते चले जाते है।
लिस्ट बनाने के माध्यम1. टेलीफोन डायरी/डायरेक्ट्री 2. फोटो/विडियो एलबम 3.विजिटिंग कार्ड 4. आमंत्रण पत्र की सूची

Exif_JPEG_420

• हमारी जिंदगी में सबसे महत्वपूर्ण पहलू स्वास्थ्य और शिक्षा है।

• क्या आप अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य की बेहतर योजना चाहते है?

• क्या आप अपने बच्चों की शिक्षा की बेहतर योजना चाहते है?

• क्या आप अपने जीवन में इंटरनेट की महत्ता जानते है? • क्या आप अपने जीवन में E-Commerce के प्रभाव को समझ पा रहे हैं?

• बहुत तेजी से सब कुछ ऑनलाइन होता जा रहा है, इस बदलती परिस्थितियों में
आपको क्या करना चाहिए? –

क्या आप अपने परिवार और बच्चो के भविष्य के लिये बेहतर योजना चाहते हैं? –

इंटरनेट, ई-कॉमर्स से दुनिया बहुज तेजी से बदल रही है

Exif_JPEG_420

नये जमाने के इन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर
जानकारी प्राप्त करने के लिए ज्ञानवर्धक कार्यक्रम में आप सादर आमंत्रित है।

सेफ शॉप ही क्यों?
शिक्षा:-सेफ शॉप में आपको शिक्षा दिया जाता है, आगे बढ़ने के लिए शिक्षा जरूरी है शिक्षा के बिना आप आगे नहीं बढ़ सकते सेफ शॉप आपको शिक्षा फ्री में देता है, कोई भी यहाँ से शिक्षा ले सकता है. कहा जाता है कि शिक्षा के बिना मनुष्य का जीवन जानवरों के समान होता है।
सस्कार:-सेफ शॉप में आपको संस्कार दिया जाता है. आपको बड़ो से बात कैसे करना है, अपने प्रति और देश, समाज , लोगो के प्रति ईमानदारी कैसे रखनी है, शिक्षा के साथ-साथ संस्कार भी जरूरी है, अगर आप चाहते है कि आपका बच्चा संस्कारवान बने तो आप उसे सेफ शॉप के किसी भी एडवाइजर से मिला दीजिए।
सगातः सेफ शॉप में संगति के बारे में सिखाया जाता है यहा पर बताया जाता है कि आप बुरे लोगों से दूर रहे और अच्छे लोगो के साथ रहे, क्योंकि अगर आपका बच्चा के पास शिक्षा और संस्कार अच्छा है लेकिन संगति गलत लोगो के साथ है तो आपका परिवार बर्बाद हो जाएगा। अगर आप चाहते है कि आपका बच्चा का संगति अच्छे लोगो के साथ रहे तो सेफ शॉप की ट्रेनिंग में साथ मे लेकर आये।
एकता:-सेफ शॉप में एकता के बारे में बताया जाता है एकता के बिना कोई भी बड़ा काम आप नही कर सकते है यहां पर जाति धर्म से ऊपर उठकर एकता बनाकर काम करते हैं आज ज्यादातर घरो में एकत्ता नही
ब्यक्तिगत पहचान:- सेफ शॉप में व्यक्तिगत पहचान के बारे में जानकारी दिया जाता है ईमानदारी से काम करना लोगो का सहायता करना और लोग आगे बढ़े तोखुस होना और जो आगे बढ़ नही पा रहा है किसी कारण से उसे आगे बढ़ना इत्यादि अगर ये सभी जिसके पास है ओ सफल है जैसे

7509018151 9669348309

Leave a Reply

Your email address will not be published.